Welcome To Our Jinaagam Saar Website.

Jinaagam Saar is a unique portal to highlight and popularize Jain Teerth Kshetrasa, Atishay Kshetrasa ,About Jainsm And Pricipal,Famous Aacharya,Famous Muni,Aaryika worldwide. It not only gives the right information to Jain community spread all over the world about Teerth Kshetrasa, Atishay Kshetrasa ,About jainsm And all Aachrya, but also helps them to increase their knowledge about Jain Teerth kshetras and great historical persons.In This website we given Infrormation in Hindi As well as Elnglish Also.This Website is Give Infrmation to Jain dhram.In This website You Found Information about more than 50 aacharya. The site also contains information regarding the Tirthankar like Bhagwan Mahavir, Parsvanath, Vasupujya, Padmaprabhu, Chandraprabhu, Adinath ,Vidyamaan 20 Tirthankar like Simandhar,bahu Subhau,jugmandar etc.3 lok also described wwith details in future. Jainism is an Indian Religion that prescribes a path of non-violence towards all living beings. Its philosophy and practice emphasize the necessity of self-effort to move the soul towards divine consciousness and liberation. Any soul that has conquered its own inner enemies and achieved the state of supreme being is called Jina (Conqueror or Victor). Jainism believes that the universe is everlasting. It has no beginning and no end. Namokar Mantra is the biggest reverence mantra.
Latest News And Upadate

 

शंका समाधान
अगर आपके मन में जैन धर्म से सम्बंधित कोई भी जिज्ञासा है और आप उसका समाधान चाहते है , तो हम आपकी उस जिज्ञासा का समाधान जैन ग्रन्थ के अनुसार देने का प्रयास करेंगे । इसके लिए आप हमारे चैट सिस्टम में (नीचे की तरफ ) अपनी जिज्ञासा या प्रश्न लिख कर भेज देवे हमारी टीम आपके जिज्ञासा का समाधान देने का प्रयास करेगी । धन्यबाद
।।जैन धर्म की जय हो।।

हमारे द्वारा भारत के सभी जैन मंदिरो की जानकारी देने का प्रयास किया जा रहा है जिसके लिए आपका सहयोग आपेक्षित है आप हमें अपने मंदिर की या अपने आस पास के मंदिर की जानकारी हमें हमारी GMAIL ID पर भेज सकते है जिसमे निम्लिखित जानकारी देने की कृपा करे :
मंदिर का नाम
मंदिर का पता
ट्रस्टी का नाम
सम्पर्क सूत्र
रेलवे स्टेशन से दुरी
और वेदी व मंदिर का १-१ फोटो
हमारी ID है jinaagamsaar@gmail.com

1)Jain Tirthnkar(Trikaal) And,Vidhyamaan Tirthnkar News,Puja,STUTI,Aarti Sangrah and more On Android Phone Click Here Jain Tirthnkar Apps

2)Vegetarian-Restaurants In World

3)Vegetarian-Restaurants On Android Phone

जिनागम सार ऐसा पोर्टल है जिसमे जैन धर्म से जुडी हर जान कारी आप तक पहुचने की कोशिश की गयी।इसमें दिग. जैन तीर्थ क्षेत्र, दिग. जैन आचार्य ,दिग. जैन मुनि और आने वाले समय में इसमें जैन ग्रन्थ को भी आप तक पहुचाने का प्रयास किया जायेगा।इस वेबसाइट में जैन धर्म का इतिहास,वर्तमान और भविष्य के बारे में बताया गया है (ग्रन्थ के अनुसार)।जैन धर्म के सिद्धांत ,जैन तीर्थंकर का परिचय,६३ शलाका पुरुषों का वर्णन ,१६९ महा पुरुष जैसे २४ तीर्थंकर (आदिनाथ से महावीर स्वामी का ) १२ चक्रवर्ती (भरत चक्रवर्ती से ब्रह्मदत्त चक्रवर्ती का ) ९ नारायण का ,९ प्रतिनारायण का ,९ बलभद्र का ,४८ तीर्थंकर के माता-पिता का ,२४ कामदेव का ,९ नारद और ११ रूद्र का वर्णन किया गया है । इसके आलावा विद्यमान बीस तीर्थंकर सीमंधरस्वामी ,बाहु सुबाहु आदि का वर्णन भी किया गया है ।इस पोर्टल पर आपको ८४ आचार्य की जानकारी मिलेगी और साथ में वर्तमान के मुनि संघ व् आर्यिका संघ कि जानकारी भी प्रदान की जायेगी । हमारा लक्ष्य वर्तमान के सभी आचार्य , मुनि संघ व् आर्यिका संघ की सम्पूर्ण जानकारी देने प्रदान करने का है । ६ काल ,७ तत्त्व ९ पदार्थ ,१० धर्म ,११ प्रतिमाये आदि जैन धर्म के मुख्य सार भुत बातों का इसमें विस्तृत वर्णन किया है । आगे आने वाले समय में बच्चो की ऑनलाइन पाठ शाला का भी इसमें आयोजन किया जाएगा ।जिस से जैन धर्म से आप जुड़ सकते है | इस पोर्टल का उद्देश्य जैन धर्म की सिद्धांतों को सभी के सामने लाने का है । जिससे जैन व् अजैन लोग भी इसे जान सके |
message
Jain Mantrajain mantra
Now You Can Watch Paras Channel And Jinwani Channel Live For Watch Click Here
paraschannellink
jinwani channel link
Digambars And Shwetämbar
  • jain sect
  • jain sec1
  • jain sect2
  • jain sect 4
  • jain sect 3
  • jain sect 5
  • jain sect 6
Jain Calender,Path And Puja
Jain Calender
Alochna Path
Nirvaan Kaand
Barah Bhavna
Bhaktamar-Path (Sanskrit)
Bhaktamar-Path (Hindi)
Barah Bhavna
Samadhi Bhavna
Manglashtak Stotra
More......
Our Future Plans

1. All Dig. Jain Temple Detail include Local Jain Temple(City Wise) And Foreign Jain Temple.

2. All Upadhayay,Muni,Aaryika,Ailak, Kshullak Detail.

3. Online Jain Granth.

4. Read More

Jain Photos Download Here
HTML Comment Box is loading comments...